Vigyan ke Chamatkar in Hindi विज्ञान के चमत्कार पर हिन्दी निबंध

हेलो दोस्तों आज फिर मै आपके लिए लाया हु Vigyan ke Chamatkar in Hindi पर पुरा आर्टिकल। Vigyan ने बहुत ज्यादा तरक्की कर ली है चाहे वो कोई भी फील्ड हो। आज हम आपको विज्ञान के चमत्कार के बारे में बताएँगे तो अगर आप अपने बच्चे के लिए Vigyan ke Chamatkar in Hindi में ढूंढ रहे है तो आप इसको अपने बच्चे के होमवर्क के लिए उपयोग कर सकते है।

Vigyan ke Chamatkar in Hindi

Vigyan ke Chamatkar in Hindi

प्रस्तावना :

आज हम विज्ञान के युग में जी रहे हैं छोटी से छोटी वस्तु मतलब सुई से लेकर बड़ी से बड़ी रेल, वायुयान इत्यादि सभी विज्ञान की ही देन है। विज्ञान तो एक जादू की छड़ी के समान है जिसे घुमाते ही हमारी आवश्यकतानुसार वस्तु प्रकट हो जाती है।

चिकित्सा सम्बन्धी वैज्ञानिक आविष्कार :

आज विज्ञान के चमत्कारों जैसे इंजेक्शन, एक्स-रे, अल्ट्रासाउण्ड, शल्य चिकित्सा, सी.टी. स्कैन आदि के कारण ही छोटी-सी बीमारी से लेकर बड़े से बड़े घातक रोग तक का इलाज आसानी से किया जा सकता है। प्लास्टिक सर्जरी द्वारा वास्तविक अंगों के समान कृत्रिम यंत्र भी लगाए जा रहे हैं। कृत्रिम गर्भाधान की तकनीक, जिसे ‘टेस्ट टूयूब बेवी के रूप में जाना जाता है, विज्ञान की ही देन है तथा निसंतान लोगों के लिए एक आशा की किरण है।

यातायात सम्बन्धी आविष्कार :

विज्ञान के जादुई आविष्कारों ने वर्षों की यात्रा को दिनों में तथा दिनों की यात्रा को घंटों में संभव कर दिखाया है। विज्ञान ने हमें वायुयान, जेटयान, कार, रेल, रॉकेट आदि उपहार देकर यातायात को बहुत आसान कर दिया है। सारा विश्व बहुत छोटा प्रतीत होने लगा है। चीन, जापान, अमेरिका, रूस आदि दूसरे देश न लगकर दूसरे शहर प्रतीत होते हैं। आज तो मानव चाँद पर भी पहुँच चुका है।

संचार-सम्बन्धी आविष्कार :

विज्ञान के मुख्य आविष्कारों में बेतार के तार, टेलीफोन व तार आदि मनुष्य के लिए बहुत सुविधाजनक हैं। टेलीफोन द्वारा हम संसार में किसी भी कोने में बैठे अपने प्रियजन से घंटों बातें कर सकते हैं। बेतार के तार द्वारा सूचना पाते ही एक डूबते हुए जहाज को, भी बचाया जा सकता है।

शिक्षा के क्षेत्र में विज्ञान के लाभ :

शिक्षा व ज्ञानवर्द्धन के क्षेत्र में भी विज्ञान ने विशेष योगदान दिया है। समाचार पत्र इस दिशा में मील का पत्थर साबित हुए हैं क्योंकि इन्हें पढ़कर हर दिन पूरी दुनिया के बारे में जाना जा सकता है। मुद्रण-यंत्र के आविष्कार से छपाई-कार्य बहुत सरल हो गया है, जिसकी सहायता से कम से कम समय में ही किसी भी प्रस्त की अनगिनत प्रतियाँ छापी जा सकती हैं।

मनोरंजन के क्षेत्र में विज्ञान का योगदान :

विज्ञान की सबसे बडी देन ‘विद्युत’ है जिसके द्वारा आज अनगिनत यन्त्र चलाए जाते हैं। दूरदर्शन चलचित्र, रेडियो, कम्प्यूटर, इंटरनेट सभी विद्युत से ही चलते हैं। इन साधनों ने हमारे जीवन को सुन्दर, सरस तथा मनोरंजनमय कर दिया है। ये हमारी थकावट को दूर भगाकर हमें तरोताजा कर देते हैं।

विज्ञान का विनाशकारी रूप :

हर सिक्के के दो पहलू होते हैं। विज्ञान ने भी मानव को विनाश के लिए भी बहुत-सी सामग्री दे दी है जैसे-अण बम, नापाक बम, हाइड्रोजन बम इत्यादि। आतंकवादियों द्वारा दुनिया को तहस-नहस कर देने वाला सामान भी विज्ञान की ही देन है। आज विज्ञान के चमत्कारों तथा आधुनिक उपकरणों ने मानव को आलसी बना दिया है। वह हर कार्य के लिए मशीनों पर आश्रित हो गया है। जिसके कारण उसे अनेक बीमारियों का भी सामना करना पड़ रहा है।

उपसंहार :

इसमें दोष विज्ञान का नहीं है। यह तो मानव की बुद्धि तथा समझ पर निर्भर करता है कि वह विज्ञान के आविष्कारों का प्रयोग मानव जाति के कल्याण के लिए करता है या फिर विनाश के लिए करता  है। समझदारी तो इसी में है कि हम विज्ञान के आविष्कारों का प्रयोग अपना उन्नति के लिए करें, दूसरों के विनाश के लिए नहीं।

 

Also Read:

Vigyan ke Chamatkar in Hindi

आज के युग में विज्ञान ने इतनी उन्नति कर ली है कि उसके अन्वेषणों तथा आविष्कारों को देखकर मानव चमत्कृत हुए बिना नहीं रह पाता। उन अनेक प्रकार के चमत्कारों तथा अन्य चमत्कारों के बढ़ते हुए नित्य कदमों के कारण ही इस युग को विज्ञान के चमत्कारों का युग कहा जाने लगा है। वस्तुतः मानव जीवन के प्रत्येक क्षेत्र में विज्ञान ने अपना आसन जमा लिया है। चिकित्सा, यातायात, व्यापार, मनोरंजन, शिक्षा आदि से लेकर नक्षत्र एवं गृह विज्ञान तक इसका क्षेत्र फैल चुका है।

प्रातः उठने से लेकर रात को सोने तक आज का मनुष्य जिस तरह के भी उपकरणों व साधनों का उपयोग करता है वे सभी आधुनिक विज्ञान एवं तकनीक की ही देन हैं। आज बिजली, रेडियो, सिनेमा, टेलीविजन, टेलीफोन, जलयान, वायुयान, पंखे, बल्ब, रसोई तथा बैठक आदि के उपकरण, सभी कुछ आधुनिक विज्ञान की देन हैं। कल तक जिन रोगों के इलाज की हम कल्पना तक नहीं कर पाते थे, आज के विज्ञान ने उनका नाम तक मिटा दिया है। वैज्ञानिक उपकरणों की सहायता से मानव हिमालय के उच्च शिखरों पर विजय पताका फहरा आया है और चन्द्रलोक तक की ऊबड़-खाबड़ भूमि पर अपने चरण-चिन्ह अंकित कर आया है। विज्ञान की सहायता से आज का मानव सागर का अन्तराल चीर कर उसके अन्तरतल की खोज करने लगा है।

आधुनिक विज्ञान ने सोचने-विचारने, आँकड़े इकट्ठे करने, बड़े-से-बड़ा | हिसाब-किताब रखने जैसे काम भी कम्प्यूटर की सहायता से सम्भाल रखे हैं। इनके अलावा इसने इंजीनियरिंग और परिवार नियोजन आदि के क्षेत्रों में भी चमत्कारिक प्रगति कर ली है। आज का वैज्ञानिक पुरुष को स्त्री और स्त्री को पुरुष तक बनाने में सक्षम है। इस प्रकार विज्ञान के बढ़ते हुए कदमों और चमत्कारों के कारण आज निकट-दूर कुछ भी नहीं रह गया है।

आधुनिक विज्ञान ने युद्ध की तकनीक में विशेष चमत्कार कर दिखाया है। हाइड्रोजन बम, कोबाल्ट बम, जैविक या रासायनिक बमों एवं शस्त्रास्त्रों के निर्माण की लोमहर्षक चर्चा सुनने के बाद परमाणु बम की कहानी तो पुरानी-सी लगने लगती है। यदि भविष्य में युद्ध होंगे तो उनका संचालन कोई भूमिगत और चमत्कृत कर देने वाला वैज्ञानिक यंत्र ही कर रहा होगा। इस प्रकार विज्ञान ने युद्ध-कला को विनाश और सर्वनाश की कला बना दिया है।

वास्तव में विज्ञान एक शक्ति है जिसका प्रयोग हम अच्छे या बुरे रूप में कर सकते हैं। इसे जनहित में लगाकर विश्व को नन्दन वन बना सकते हैं अन्यथा | थोड़ी-सी विवेकहीनता ही विश्व को मरुस्थल में बदल सकती है। इसका दायित्व हमारे राजनीतिज्ञों पर निर्भर करता है।

Also Read:

Vigyan ke Chamatkar in Hindi

आधुनिक युग विज्ञान का युग है। विज्ञान ने दिन दुगुनी रात चौगनी उन्नति की है। यह एक आदमी के जीवन में बहुत सी क्रांन्तियाँ लाया है। बल्कि विज्ञान ने तो एक आदमी की जीवनचर्या और जीवनशैली को ही बदल डाला है। इसने पृथ्वी का स्वरूप ही बदल दिया है। विज्ञान ने मानवता की दूरगामी आविष्कार एवं खोजें प्रदान की हैं। इसने मानवजाति को ऐसे यन्त्रों द्वारा अभिमन्त्रित किया है। कि विज्ञान को नाम एवं श्रद्धा अर्जित हुई है।

विज्ञान के अचम्भों की गणना करना कठिन है। किन्तु कुछ आविष्कार उल्लेखनीय हैं। विज्ञान का सम्पूर्ण विकास एवं प्रगति एक बृहत विषय है। किन्तु विज्ञान द्वारा मानव को प्रदत कुछ अजूबे सचमुच महत्वपूर्ण है।

स्वास्थ्य एवं स्वास्थ्य विज्ञान के क्षेत्र में विज्ञान ने बहुत चमत्कार किये हैं। पेन्सिलीन, स्ट्रेप्टोमाइसिन एवं अन्य कई दवाईयाँ बहुत लाभकारी सिद्ध हुयी है। बहुत सी असाध्य एवं घातक बीमारियों का इलाज ढूंढ निकाला गया है। विज्ञान ने रोग एवं मृत्यु पर विजय पा ली है। इसने मानव की जीवन अवधि में विस्तार किया है। प्लास्टिक सर्जरी द्वारा एक कुरूप महिला को एक सुन्दरी में परिवर्तित किया जा सकता है।

एक्स-रे द्वारा मानव शरीर के अन्दर के रोगों एवं दोषों को खोजा जा सकता है। यातयात एवं संचारण के क्षेत्र में विज्ञान की उपलब्धि आश्चर्यजनक है। विद्युतचालित तीव्र गति की रेल गाड़ियाँ, हवाई जहाज़ एवं जहाज़ के गुणों से सभी परिचित हैं। विज्ञान के चमत्कारों ने सम्पूर्ण विश्व को एक सुन्दर एवं आधुनिक गाँव में परिवर्तित कर दिया है जिसमें सभी सुख सुविधायें उपलब्ध हैं।

एक दिन में ही हम विश्व के कई नगरों का भ्रमण कर सकते हैं। समय एवं दूसरी सभी बाधायें विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी के इस युग में दूर हो गई है।

‘परमाणु ऊर्जा’ विज्ञान के द्वारा किया गया एक अन्य उपकार है। यह ऊर्जा न केवल ऊर्जा की व्यापक मांगों को सन्तुष्ट करती है बल्कि अन्य बहुत कार्य भी आ सकती है क्योंकि यह, ऊर्जा के किसी भी अन्य स्त्रोत से अधिक शक्तिशाली है। परमाणु ऊर्जा द्वारा फैक्टरी, मिलें एवं अन्य विशाल औद्योगिक प्रतिष्ठानों को चलाया जा सकता है।

इसके अतिरिक्त परमाणु विस्फोटों का उपयोग पर्वतों को समतल बनाने एवं नहरों एवं सुरंगों को बनाने में किया जा सकता है।

विज्ञान ने मशीनों को भी महिमामण्डित कर दिया है। उनकी कार्यक्षमता में विस्तार हुआ है हालांकि इससे बेरोजगारी एवं पर्यावरण प्रदूषण जैसी समस्याओं में विस्तार हुआ है। ट्रैक्टर, कृषि यन्त्रों, रसायनों एवं कीटनाशक दवाइयों के प्रयोग से औसत उत्पादन में वृद्धि हुई है। कृषि में वैज्ञानिक तरीकों को अपनाने से किसानों को दुगुनी चौगनी फसल प्राप्त हो रही है।

अन्ततः विज्ञान के चमत्कार अनगिनत हैं। विज्ञान ने हमें पानी में मछली की तरह तैरना और आकाश में पंछी की तरह उड़ना सिखाया है। इससे टेलीफोन, टेलीविजन, पर्दे, कम्प्यूटर, वातानुकूलित गाड़ियाँ एवं आवासों जैसी सुविधायें एवं सुख मुहैया हो पाई हैं। विज्ञान के कारण सर्दी एवं गर्मी का भेद समाप्त हो गया है।

विज्ञान का प्रयोग गरीबी हटाने, झुग्गी झोपड़ी हटाने एवं खेतों एवं फैक्ट्रियों में उत्पादन बढ़ाने एवं अन्य सृजनात्मक कार्यों के लिये किया जा सकता है। वास्तव में यह सभी विज्ञान के ही चमत्कार हैं।

 

Also Read:

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.