IP Address Meaning in Hindi IP Address Kaise Pata kare IP Address क्या होता है।

हेलो दोस्तों आज मै आपको IP Address के बारे में बताऊंगा ताकी आप समझ सके की IP Address का मतलब Internet Protocol Address है। इस तरह आप किसी का IP Address का Pata कर सकते है।देसी भाषा में बात करे तो यह एक Addresss होता है जिससे आपकी ऑनलाइन वर्ल्ड में पहचान की जा सके। एक तरह से ये आपके घर के address की तरह होता है। निचे के आर्टिकल में आप IP Address के बारे में पूरी जानकारी पढ़ेंगे ताकी आप IP Address Meaning in Hindi में समझ सके। 

IP Address क्या होता है।

जो भी डिवाइस इंटरनेट से कनेक्ट होता है तो उसका IP Address होता है जिससे हम उसको track या पहचान सकते है की उस डिवाइस का IP Address क्या है और उसको कौन कहा से इस्तेमाल कर रहा था।

IP Address की शुरुवात 0 से लेकर 255 तक होती है जैसे 234.242.131.104

ये एक sample IP Address है 234.242.101.104 आपको बता दू की हर एक डिवाइस की एक unique IP Address होती है। इसको समझने के लिए आप ऐसे समझ सकते है की आप अपने घर पर अपने मोबाइल पर wifi से इंटरनेट चला रहे है तो जब भी आप अपने मोबाइल पर google.com या कोई और वेबसाइट खोलते है तो आपका मोबाइल ये जानकारी आपके router को देता है फिर router आपके IP Address पर उस जानकारी को देता है।

इसका मतलब ये हुवा की router को जानकारी देने के लिए किसी Address की जरूरत होती है जहा पर वो पूछी गयी जानकारी के बारे में बता सके।

ऐसे ही जब आप मोबाइल से इंटरनेट चलाते है तो भी आपके मोबाइल की एक unique IP Address होती है। इस तरह आपने देखा की हर डिवाइस का IP Address अलग होता है और होना भी चाहिए क्योकि अगर 5 लोग अपने मोबाइल से किसी को मेल /mail भेजते है तो उनके IP Address के कारण हम उनको पहचान लेंगे।

IP Address से जुडी हुई एक मज़ेदार बात यह है की IP Address कंप्यूटर या फिर ये कहे की मशीनो के लिए होते है क्योकि मशीन किसी भी नंबर को अच्छे से याद रख सकती है मेरा मतलब है की नंबर को अपने मेमोरी में save कर सकता है लेकिन हम इंसानों को नंबर याद रखने में बहुत दिकत होती है।

हर एक वेबसाइट का एक IP Address होता है अगर आप ये 157.240.24.35 IP अपने मोबाइल ब्राउज़र पर डालेंगे तो देखेंगे की facebook.com की वेबसाइट ओपन हो जाएगी। domain name सिर्फ हम इंसानो के लिए होते ताकि हम वेबसाइट नाम याद रखकर website खोल सके क्योकि फेसबुक का IP Address याद रखना थोड़ा होता है

IP Address कितने प्रकार का होता है

Private IP Address जैसा की नाम से पता चलता है ये Private IP Address होती है इनको किसी स्कूल या ऑफिस में इस्तेमाल किया जाता है जैसे किसी कंप्यूटर से दूसरे किसी कंप्यूटर कोई फाइल या information भेजनी है तो आप अपने कंप्यूटर को यूनिक IP Address डाल सकते है जिससे इंटरनेट पर आप दोनों कंप्यूटर को पहचान कर सकते है।

Public IP Address ज्यादातर ISP (Internet Service Provider) दवारा दी जाती है Public IP Address आपके address की तरह होता है जैसे कोई नया आदमी भी आपके address का पता करके आपके पास आ सकता है।

Public IP Address इंटरनेट देने वाली कंपनी के लिए बहुत जरुरी होते क्योकि अगर कोई अपने कंप्यूटर से कोई गलत मेल भेजता है तो पुलिस उसकी IP Address का पता लगा सकती है उसके बाद उस ip को ISP को भेज दिया जाता है और वो उस IP Address से जुडी सारी जानकारी (जैसे IP Address लेने वाला का पता,नाम और मोबाइल नंबर ) पुलिस को दे सकता है।

इस तरह Public IP Address इस्तेमाल इंटरनेट की दुनिया में मॉनिटर करने के लिए इस्तेमाल होता है।

Public IP Address कितने प्रकार का होता है

  • Static IP Address
  • Dynamic IP Address

जैसा की नाम से पता चलता है Static IP Address का मतलब होता है की जो address बदले ना। जैसे जब हम घर में इंटरनेट लगवाते है तो हमारा Static IP Address होता है। यानि जो Address पहले दिन होता है वही Address हमेशा रहता है।

Dynamic IP Address ज्यादातर मोबाइल कंपनी के द्वारा इस्तेमाल किया जाता है जब भी हम इंटरनेट का इस्तेमाल करते है तो हमारे मोबाइल IP Address बदलता रहता है उससे हम Dynamic IP Address कहते है।

 

IP Address के कितने Version होते है

IP Address के सिर्फ 2 Version होते है

IPv4 (Internet Protocol Address Version 4)

IPv4 32 bit का होता है IPv4 बाइनरी नंबर्स होते है जो की decimals मे रिप्रेजेंट होते है जैसे http://192.168.0.1 IPv4 मे security को लेकर कुछ नहीं है क्योकि जब इसको बनाया गया था तो security के बारे में नहीं सोचा था। IPv4 को isolated military network के लिए बनाया गया था लेकिन बाद उसको सभी के लिए इस्तेमाल करना शुरू कर दी।

IPv6 (Internet Protocol Address Version 6)

IPv6 128 bit को होता है इसमें Binary number इस्तेमाल किया गया है जो की Hexa Decimal मे रिप्रेजेंट यानि लिखे जाते है IPv6 addresses के अंदर बहुत ज्यादा नंबर होते है इसमें हम trillion से भी ज्यादा डिवाइस जोड़ सकते है। जैसा कि हम जानते है IPv6 IPv4 का नया version है तो इसके अंदर उसकी सारी कमियों को ठीक किया गया है और बहुत से नए सुधार किये गए है।

 

अपना IP Address कैसे पता करे

  • अगर आप विंडोज का इस्तेमाल करते है तो निचे दिए तरीके से IP Address का पता कर सकते है
  • IP Address के लिए Run +cmd टाइप करे।

 

उसके बाद आपको ipconfig टाइप करना होगा और आपके सामने आपका IP Address आ जायेगा।

 

अगर आप इस तरीके से IP Address का पता नहीं कर सकते तो आप google पर लिख सकते है की what is my ip तो आपको अपनी IP Address के बारे में पता चल जायेगा।

 

IP Address से location कैसे पता करे।

IP Address से location पता करना चाहते है तो उसके लिए आपको सिर्फ कुछ वेबसाइट पर उस IP Address को डालना होगा और उसकी सारी जानकारी आपके सामने आ जाएगी

निचे दी गयी कुछ वेबसाइट है इनसे आप IP Address के लोकेशन का पता लगा सकते है।

https://www.iplocation.net/

https://iplocation.com/

https://www.ip2location.com/

 

 

Also Read:

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.